Thursday, February 14, 2019

टूटी बेड़ियां: काम नहीं करने पर होती थी पिटाई, मिलता था आधा पेट खाना

बुधवार सुबह विनयखंड गोमतीनगर के एक पॉश इलाके से सात साल की मासूम बच्‍ची को आशा ज्‍योति केंद्र और चाइल्‍ड लाइन की टीम ने बाल श्रम से छुड़ाया।

from Jagran Hindi News - uttar-pradesh:lucknow-city http://bit.ly/2DBzKG6
via IFTTT

No comments: