Saturday, December 1, 2018

संवादी : बदलते समाज को व्यक्त करने का तरीका अलग होता है

संवादी : दूसरे सत्र लेखन में कितना दम विषय पर प्रवीण कुमार, क्षितिज राय, भगवंत अनमोल और सिनीवाली शर्मा ने अपने-अपने विचार व्‍यक्‍त किए।

from Jagran Hindi News - uttar-pradesh:lucknow-city https://ift.tt/2RrV72r
via IFTTT

No comments: