Friday, October 19, 2018

यहां कभी भी मैदान नहीं छोड़ते राम और रावण, कई सालों से अस्त्र-शस्त्र सहित आमने-सामने

117 वर्ष पुराना हो चुका अमेठी का दशहरा मेला। रावण की प्रतिमा का निर्माण अब्दुल खालिक कुरैशी ने किया था।

from Jagran Hindi News - uttar-pradesh:lucknow-city https://ift.tt/2pZlaBG
via IFTTT

No comments: