Sunday, September 2, 2018

पंडित किशन महाराज : आशीषों की छांव में सीखी निर्भीकता

दिव्य व्यक्तित्व को प्रणाम करते ही उन्होंने कहा कि तुम राहत (उस्ताद राहत अली) की शिष्या हो न और आशीषों की बरसात कर दी। मैं अवाक रह गई कि ये तबला वादक और गुरुजी को कैसे जानते हैं।

from Jagran Hindi News - uttar-pradesh:lucknow-city https://ift.tt/2Cbo3sg
via IFTTT

No comments: